समर्थक

सोमवार, 6 मई 2013

प्यार

प्यार क्या है?
मालूम नहीं

कभी मिला?
....?!?!?

हां... पर कभी कभी
हथेली पर कटी सी
रेखा दिखती हैं
क्या वो प्यार है??

या फिर निकल आता है
जो एक कतरा
बगैर इजाजत
या फिर ये प्यार है???ै

15 टिप्‍पणियां:

  1. या फिर निकल आता है
    जो एक कतरा
    बगैर इजाजत .... और हिस्‍सा बन जाता है जिंदगी का

    उत्तर देंहटाएं
  2. ना जाने क्या प्यार है …………अमृत घट की तलाश में सभी भटक रहे हैं ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्यार परिभाषाओं से परे है.....
    तभी तो इतना रहस्यमयी है........
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  4. प्यार क्या है ... अगर ये किसी को पता होता .... तो इतना खोजना क्यूँ पड़ता ...
    स्जयद प्यार इन सब से अलग है ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. आज की ब्लॉग बुलेटिन ' जन गण मन ' के रचयिता को नमन - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  6. प्यार की कोई परिभाषा नही..सुंदर प्रस्तुति,,,

    उत्तर देंहटाएं
  7. ek katra .........bagair ijajat ke niklne vala nihswarth bhaav hi pyaar hai.

    behtreen!

    उत्तर देंहटाएं
  8. हां... पर कभी कभी
    हथेली पर कटी सी
    रेखा दिखती हैं
    क्या वो प्यार है??------
    प्यार का सच तो यही है
    सुंदर अनुभूति
    बधाई

    उत्तर देंहटाएं