समर्थक

शनिवार, 17 दिसंबर 2016

जिंदगी

कोई तो
सुझा दो
जिंदगी
के
चार रंग
जो दो
उसके हों
दो
मेरे.....!

2 टिप्‍पणियां:

  1. दिनांक 18/12/2016 को...
    आप की रचना का लिंक होगा...
    पांच लिंकों का आनंद... https://www.halchalwith5links.blogspot.com पर...
    आप भी इस प्रस्तुति में....
    सादर आमंत्रित हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत खूब ... ऐसा बंटवारा कहाँ हो पता है जिंदगी में ...

    उत्तर देंहटाएं